31 C
Kolkata
Saturday, November 27, 2021

Rakesh Tikait attacks AIMIM chief Asaduddin Owaisi, tells people to tie him up – राकेश टिकैत का नाम लिए बगैर ओवैसी पर बड़ा हमला, लोगों से कहा बांधकर रखो

Must read

Image Source : PTI
राकेश टिकैत ने असदुद्दीन ओवैसी और उनकी पार्टी AIMIM को भारतीय जनता पार्टी की ‘बी टीम’ कहा।

Highlights

  • ‘महा धरना’ को संबोधित करते हुए टिकैत ने लोगों से ओवैसी को राज्य से ‘बंधा’ रखने को कहा।
  • पहले टिकैत ने हैदराबाद के सांसद असदुद्दीन ओवैसी को बीजेपी का चाचा जान बताकर उन पर निशाना साधा था।
  • उन्होंने ओवैसी पर CAA कानून को निरस्त करने की मांग करने पर पलटवार किया था।

हैदराबाद: भारतीय किसान यूनियन के नेता (बीकेयू) राकेश टिकैत ने गुरुवार को एआईएमआईएम के राष्ट्रीय अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी और उनकी पार्टी ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन को भारतीय जनता पार्टी की ‘बी टीम’ कहा। किसान आंदोलन की बरसी पर हैदराबाद के धरना चौक पर ‘महा धरना’ को संबोधित करते हुए टिकैत ने ओवैसी पर तीखा हमला किया और लोगों से उन्हें राज्य से ‘बंधा’ रखने को कहा ताकि वह मदद के लिए बाहर न जाएं।

राकेश टिकैत ने कहा, “वो आपका एक जो नाक वाला सांड बीजेपी की मदद के लिए जो आपने बेलगाम छोड़ दिया है उसको यहीं पर बांध कर रखो। वो देश में बीजेपी की सबसे बड़ी मदद करता है। उसको यहां से बाहर मत जाने दो। वो बोलता कुछ और है लेकिन उसका मकसद कुछ और है। उसको यहीं बांधकर रखो। उसको हैदराबाद और तेलंगाना से बाहर मत जाने दो। वो वहां जाएगा तो बीजेपी की मदद करता है ये सारा देश जानता है। उनको रोक के रखो, वे बेलगाम सांड हैं। बयान कुछ और देते हैं, तोड़-फोड़ के काम करते हैं। दोनों ‘ए’ और ‘वी’ टीम है। देश की जनता इस बात को जानती है।”

इससे पहले टिकैत ने हैदराबाद के सांसद असदुद्दीन ओवैसी को बीजेपी का चाचा जान बताकर उन पर निशाना साधा था। उन्होंने ओवैसी पर CAA कानून को निरस्त करने की मांग करने पर पलटवार किया था। साथ ही उन्होंने ओवैसी की बीजेपी के साथ सांठ-गांठ का आरोप लगाया। उन्होंने कहा है कि असदुद्दीन ओवैसी और बीजेपी के बीच ‘चाचा-भतीजे’ का रिश्ता है।

राकेश टिकैत ने कहा कि बिलों की वापसी हार या जीत नहीं है, आंदोलन तब तक जारी रहेगा जब तक MSP पर कानून नहीं बन जाता। टिकैत ने मांग की कि केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय टेनी को बर्खास्त किया जाए। साथ ही MSP गारंटी कानून बने। उन्होंने कहा कि किसानों को और दूसरे मुद्दे हैं, जिनपर बात की जाए। इसके अलावा आंदोलन में जो किसान शहीद हुए हैं उनका स्मारक बनवाया जाए।

Source link

और लेख

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

नवीनतम लेख