31 C
Kolkata
Saturday, November 27, 2021

Minor girl missing since July 8 from UP recovered; accused arrested, Delhi Police tells Supreme Court । उत्तर प्रदेश में 8 जुलाई से लापता लड़की बरामद, आरोपी गिरफ्तार: दिल्ली पुलिस ने SC को बताया

Must read

Image Source : PTI FILE PHOTO
उत्तर प्रदेश में 8 जुलाई से लापता लड़की बरामद, आरोपी गिरफ्तार, दिल्ली पुलिस ने सुप्रीम कोर्ट को बताया

नयी दिल्ली: दिल्ली पुलिस ने शुक्रवार को उच्चतम न्यायालय को सूचित किया कि उत्तर प्रदेश से आठ जुलाई से लापता 13 वर्षीय लड़की को बरामद कर लिया गया है और जिस व्यक्ति ने कथित तौर पर उसका अपहरण किया था उसे कोलकाता से गिरफ्तार कर लिया गया है। न्यायमूर्ति ए.एम.खानविलकर की पीठ ने कहा, ‘‘यह उत्तर प्रदेश पुलिस के चरित्र को दर्शाता है जो दो महीने तक कुछ नहीं कर सकी तथा दो सप्ताह का समय और मांग रही थी।’’ 

कोलकाता से आरोपी को किया गया गिरफ्तार 

दिल्ली पुलिस का प्रतिनिधित्व कर रहे अतिरिक्त सॉलिसिटर जनरल आर.एस.सूरी ने उच्चतम न्यायालय को बताया कि अदालत के निर्देश के मुताबिक उत्तर प्रदेश पुलिस ने गुरुवार को उनके साथ जांच रिपोर्ट साझा किया था। सूरी ने पीठ से कहा कि एक टीम का गठन किया गया जिसने कोलकाता से व्यक्ति को गिरफ्तार कर लिया और लड़की को बरामद कर लिया गया। पीठ में न्यायमूर्ति हृषिकेश राय और न्यायमूर्ति सी.टी. रविकुमार भी शामिल थे। 

लड़की की मां ने दिल्ली पुलिस का जताया आभार

बता दें कि, शीर्ष अदालत ने मामले की जांच को लेकर बीते बुधवार को उत्तर प्रदेश पुलिस को फटकार लगाई और उसे निर्देश दिया कि जांच रिपोर्ट दिल्ली पुलिस के साथ साझा करे। लड़की की मां की तरफ से पेश हुए वकील पई अमित ने पीठ से कहा कि वह उच्चतम न्यायालय और दिल्ली पुलिस के आभारी हैं कि नाबालिग लड़की बरामद कर ली गई है। 

7 सितंबर को होगी मामले में आगे की सुनवाई

उत्तर प्रदेश की तरफ से पेश वकील ने पीठ से पूछा कि मामले में आगे की जांच राज्य पुलिस करेगी या दिल्ली पुलिस। इस पर पीठ ने कहा, ‘‘दिल्ली पुलिस को अनुपालन रिपोर्ट दायर करने दीजिए और फिर हम विचार करेंगे कि आगे की जांच कौन करेगा।’’ साथ ही पीठ ने कहा कि कानून के मुताबिक जो भी जरूरत होगी वह दिल्ली पुलिस करेगी। पीठ ने मामले में आगे की सुनवाई की तारीख सात सितंबर तय की है। 

गोरखपुर में दर्ज की गई थी प्राथमिकी

दिल्ली में घरेलू सहायिका का काम करने वाली लड़की की मां ने याचिका में दावा किया कि उसकी बेटी को उत्तर प्रदेश में गोरखपुर से एक व्यक्ति ने तब अगवा कर लिया जब परिवार के सदस्य वहां शादी समारोह में हिस्सा लेने गए थे। प्राथमिकी गोरखपुर में दर्ज की गई थी।

Source link

और लेख

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

नवीनतम लेख