31 C
Kolkata
Saturday, November 27, 2021

Man Arrested After 3 Years Of Killing Wife, Kids and Faking his own Death in Kasganj Up । प्रेमिका के लिए पत्नी-बच्चों को मारा, दोस्त की हत्या कर अपने मर्डर की कहानी रची, 3 साल बाद चढ़ा पुलिस के हत्थे

Must read

Image Source : INDIA TV
कासगंज पुलिस अधीक्षक ने वर्ष 2018 में हुई 4 सनसनीखेज हत्याओं का खुलासा किया।

कासगंज: पुलिस अधीक्षक कासगंज के निर्देशन में कासगंज पुलिस को बड़ी सफलता मिली है। कासगंज पुलिस अधीक्षक ने वर्ष 2018 में हुई 4 सनसनीखेज हत्याओं (नोएडा-3 हत्या, कासंगज-1 हत्या) का खुलासा किया है। हत्यारे द्वारा अपनी बीवी, 2 बच्चों (नोएडा में) एवं दोस्त (कासगंज में) की हत्या की गई थी, शातिर दरिंदा सहित 4 अभियुक्त गिरफ्तार किए गए हैं। बीवी-बच्चों के कंकाल व आलाकत्ल बरामद किया गया है।

बता दें कि, 26 अप्रैल 2018 को जनपद के थाना ढोलना क्षेत्रान्तर्गत ग्राम मारूपुर के जंगल में रेलवे लाइन के पास एक अज्ञात व्यक्ति का शव जिसके सिर व हाथ के पंजे कटे हुए थे, बरामद हुआ था। अज्ञात शव की पहचान कपड़ों एवं शरीर की बनावट से राजीव पुत्र बनवारी निवासी नौगवां थाना गंगीरी जनपद अलीगढ़ द्वारा अपने भाई राकेश पुत्र बनवारी के रूप में की गई थी। वादी द्वारा थाना ढोलना पर राकेश के ससुरालीजन के विरूद्ध हत्या कर शव को फेंकने के सम्बन्ध में मुकदमा पंजीकृत कराया गया था। मृतक की पहचान स्पष्ट न होने के कारण एक सैम्पल डीएनए परीक्षण हेतु विधि विज्ञान प्रयोगशाला आगरा भेजा गया। विधि विज्ञान प्रयोगशाला आगरा द्वारा अपनी रिपोर्ट में उक्त सैम्पल मृतक राकेश का न होकर किसी अन्य का होना पाया गया।

पुलिस अधीक्षक कासगंज रोहन प्रमोद बोत्रे द्वारा जनपद का कार्यभार ग्रहण करने के उपरान्त से ही सभी पुराने प्रकरणों/घटनाओं का संज्ञान लिया गया तथा उपरोक्त लंबित हत्या की घटना के अनावरण के लिए एसओजी, सर्विलान्स एवं स्थानीय पुलिस की अलग-अलग टीमें गठित की गई। गठित टीमों द्वारा किये गये निरन्तर प्रयासों व सर्विलान्स के माध्यम से मिली जानकारी एवं अन्य साक्ष्यों के आधार पर संज्ञान मे आया कि वादी का पुत्र जीवित है तथा खुद को अज्ञात स्थान पर छिपाये हुए है। इस पर पुलिस टीम द्वारा लोकेशन एवं जानकारी के आधार पर कथित मृतक (अभियुक्त) राकेश को दिनांक 01.09.2021 को थाना ढोलना क्षेत्रान्तर्गत गढ़ी तिराहे के पास से गिरफ्तार किया गया। अभियुक्त राकेश से की गई कड़ाई से पूछताछ एवं अन्य साक्ष्यों से कई तथ्य प्रकाश में आये हैं। 

कथित मृतक/अभियुक्त राकेश का अपने गांव की एक लडकी रूबी पुत्री तेजसिंह से प्रेम प्रसंग चल रहा था, इसी बीच अभियुक्त के परिवारीजनों द्वारा अभियुक्त की शादी  वर्ष 2012  में अन्य महिला रतनेश पुत्री मोतीलाल नि0 नगला कलुआ थाना मारहरा जनपद एटा के साथ कर दी गई थी जिससे 2 बच्चे क्रमशः अवनी(पुत्री, उम्र 3 वर्ष ) एवं अर्पित (पुत्र, उम्र 1.5) वर्ष पैदा हुए। अभियुक्त द्वारा नोएडा में पंच विहार कालोनी थाना बिसरख में एक मकान खरीदा गया तथा उसी में परिवार सहित निवास कर रहा था तथा वह स्वयं नोएडा में ही एक लेबोरेट्री मे कार्य कर रहा था । 

शादी होने के बावजूद भी अभियुक्त के रूबी से प्रेम प्रसंग बादस्तूर बने रहे तथा वह अपनी पत्नी को रास्ते से हटाकर रूबी के साथ शादी करने की योजना बना रहा था । इस योजना में उसकी प्रेमिका रूबी, पिता बनवारी लाल, भाई राजीव कुमार व प्रवेश एवं मां इन्द्रवती का पूर्णतः सहयोग प्राप्त था। अभियुक्त द्वारा योजनाबद्ध तरीके से दिनांक 14.02.2018 को अपनी पत्नी रतनेश एवं दोनों बच्चों अवनी व अर्पित को मकान के बेसमेन्ट में बुलाकर लोहे की रॉड (सब्बल) से प्रहार कर तीनों की हत्या कर उनके शवों को उसी मकान के बेसमेन्ट में दफन कर ऊपर से सीमेन्ट का पक्का फर्श बनवा दिया। इसी बीच रतनेश (अभियुक्त राकेश की पत्नी) के बच्चों सहित गायब होने के सम्बन्ध में रतनेश के पिता मोतीलाल द्वारा थाना बिसरख जनपद नोएडा पर मुकदमा पुत्री के पति राकेश, ससुर एवं अन्य परिजनों के विरूद्ध पंजीकृत कराया गया था जिसकी विवेचना प्रचलित है।

उक्त विवेचना के दौरान अभियुक्त राकेश को थाना बिसरख पुलिस द्वारा कई बार पूछताछ के लिए थाने पर बुलाया गया किन्तु उसने कोई भी जानकारी होने से इनकार किया गया। पुलिस एवं अन्य कार्यवाही से बचने हेतु अभियुक्त राकेश द्वारा अपने परिवार के साथ षडयन्त्र रचकर योजनाबद्ध तरीके से अपने ही गांव के अपने जैसे शरीर की बनावट के अपने मित्र राजेन्द्र उर्फ कलुआ पुत्र दिलीप सिंह को रिश्तेदारी में चलने के बहाने से मोटर साइकिल पर ले जाकर रास्ते में पहले शराब पिलाई गई तत्पश्चात थाना ढोलना क्षेत्रान्तर्गत ग्राम मारुपुर के जंगल में रेलवे लाइन के पास पहले से ही मोटर साइकिल में छिपाये गये गंडासे को निकालकर उसकी हत्या कर दी गई तथा पहचान छिपाने के उद्देश्य से उसके सिर, हाथों के पंजे काटकर साक्ष्य छिपाने के उद्देश्य से नष्ट कर दिये गये एवं अपने कपड़े पहनाकर तथा अपना पहचान पत्र भी उसके पास फेंक दिया। अपनी हत्या का षडयन्त्र रचते हुए अपने भाई राजीव कुमार के माध्यम से शव की पहचान राकेश (स्वयं) के रूप में कराते हुए भाई के ही माध्यम से थाना ढोलना पर अपनी हत्या का फर्जी अभियोग मु0अ0स0 100/18 धारा 302,201 भादवि बनाम अपने ससुर मोतीलाल एवं साले जितेन्द्र एवं रवि के विरूद्ध पंजीकृत कराया गया।

अभियुक्त राकेश द्वारा अपने को छिपाते हुए दिलीप शर्मा पुत्र सुभाष शर्मा निवासी कुक्कन पट्टी जनपद कुशीनगर नाम का आधार कार्ड बनवाया तथा स्वयं पानीपत हरियाणा में मछरौली नामक गांव में पहले मजदूर एवं बाद में राजमिस्त्री बनकर कार्य करने लगा तथा स्थायी रूप से वहीं पर रहने लगा। इस दौरान भी अपनी प्रेमिका रूबी के लगातार सम्पर्क में बना रहा, जिससे मिलने के लिए ही राकेश दिनांक 01.09.2021 को जनपद कासगंज से होकर गंगीरी जा रहा था, इसी बीच मुखबिर की सूचना पर कासगंज पुलिस द्वारा गिरफ्तारी की गई। 

थाना ढोलना पुलिस एवं एसओजी, सर्विलांस टीम द्वारा अभियुक्त को साथ लेकर उसकी निशानदेही पर मित्र राजेन्द्र उर्फ कलुआ की हत्या में प्रयुक्त गंडासा मारूपुर के जंगलों से बरामद किया गया तत्पश्चात थाना बिसरख जनपद नोएडा से समन्वय स्थापित किया गया तथा अभियुक्त की पत्नी एवं बच्चों के शवों की बरामदगी हेतु जनपद नोएड़ा से एक मजिस्ट्रैट की नियुक्ति कराकर उनके समक्ष बेसमेन्ट को खुदवाकर उनके कंकालों एवं आलाकत्ल सब्बल (लोहे की रॉड) को बरामद किया गया। गिरफ्तारशुदा अभियुक्तगणों को न्यायालय के समक्ष प्रस्तुत कर जेल भेजने की कार्यवाही की जा रही है। पुलिस अधीक्षक कासगंज रोहन प्रमोद बोत्रे द्वारा सराहनीय कार्य करने वाली पुलिस टीम को 25000 रूपए के पुरुस्कार से पुरूस्कृत किये जाने की घोषणा की गई है।

गिरफ्तार अभियुक्तों का विवरण:- 

1.राकेश पुत्र बनवारी लाल निवासी ग्राम नौगवां थाना गंगीरी जनपद अलीगढ़ 

2.बनवारी पुत्र रामस्वरूप निवासी ग्राम नौगवां थाना गंगीरी जनपद अलीगढ़  
3.राजीव पुत्र बनवारी लाल निवासी ग्राम नौगवां थाना गंगीरी जनपद अलीगढ़ 
4.प्रवेश पुत्र बनवारी लाल निवासी ग्राम नौगवां थाना गंगीरी जनपद अलीगढ़ 
5.इन्द्रवती पत्नी बनवारी लाल निवासी ग्राम नौगवां थाना गंगीरी जनपद अलीगढ़ 
6.रूबी पुत्री तेज सिंह निवासी ग्राम नौगवां थाना गंगीरी जनपद अलीगढ़ 

बरामदगी:- 

1.पत्नी एवं बच्चों की हत्या में प्रयुक्त आलाकत्ल लोहे की रॉड (सब्बल) 

2.मित्र कलुआ उर्फ राजेन्द्र की हत्या में प्रयुक्त आलाकत्ल गंडासा 

Source link

और लेख

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

नवीनतम लेख