31 C
Kolkata
Saturday, November 27, 2021

7th Pay Commission government hospitals Doctors of Gujarat will get non-practising allowance know here detail cpc latest news | 7th Pay Commission: कर्मचारियों के लिए बड़ी खुशखबरी! सरकार ने एक और भत्ते को दी मंजूरी, हर महीने बढ़कर आएगी सैलरी

Must read

नई दिल्ली: 7th Pay Commission: कर्मचारियों के लिए एक बार फिर बड़ी खुशखबरी है. दरअसल, गुजरात सरकार ने सरकारी अस्पतालों में काम कर रहे डॉक्टरों और गुजरात मेडिकल एजुकेशन एंड रिसर्च सोसाइटी (GMERS) मेडिकल कॉलेजों के शिक्षकों के लिए सातवें वेतन आयोग (7th Pay Commission) की सिफारिशों के अनुसार, नॉन-प्रैक्टिस अलाउंस (NPA) को हरी झंडी दे दी है. यानी अब इन सभी की एक झटके में सैलरी बढ़ेगी. आइए जानते हैं विस्तार से. 

किसे मिलेगा ये भत्ता?

गुजरात के उप-मुख्यमंत्री और स्वास्थ्य मंत्री नितिन पटेल डॉक्टरों और मेडिकल कॉलेज टीचर्स के लिए रक्षाबंधन का तोहफा बताते हुए इस फैसले का ऐलान किया. आपको बता दें कि टीचर्स और डॉक्टर्स अपनी इस डिमांड को काफी लंबे समय से दबाव बना रहे थे और इसे लेकर हड़ताल पर भी जा चुके थे. अब इस फैसले के बाद कर्मचारियों की सैलरी हर महीने बढ़ कर आएगी. 

ये भी पढ़ें- पीएम आवास योजना की लाभार्थी सूची में फटाफट चेक करें अपना नाम, ये रहा आसान प्रोसेस

डॉक्टरों को त्योहार का तोहफा

नितिन पटेल के फेसबुक पेज पर इसे लेकर पोस्ट भी किया गया है. जिसमें लिखा गया है कि उपमुख्यमंत्री नितिन पटेल ने सरकारी अस्पतालों के पात्र सेवारत डॉक्टरों और जीएमईआरएस मेडिकल कॉलेज के शिक्षकों को रक्षाबंधन उपहार के रूप में सातवें वेतन आयोग के अनुसार नॉन-प्रैक्टिस एलाउंस (एनपीए) को मंजूरी दी है.

हड़ताल वापस लेने की शर्त पर मिला भत्ता

आपको बता दें कि गुजरात सरकार ने इसी साल मई में सातवें वेतन आयोग के मुताबिक छह सरकारी मेडिकल कॉलेजों के शिक्षकों के लिए इसी NPA को मंजूरी दी थी. इसके कुछ महीने बाद उन्हें 8 जीएमईआरएस मेडिकल कॉलेजों के शिक्षकों के साथ अपनी हड़ताल वापस लेने की शर्त पर मंजूरी दी गई.

ये भी पढ़ें- LPG सिलेंडर की बुकिंग पर बंपर ऑफर! मिल रहा है 2500 रुपये से अधिक का फायदा और कई लाभ, देखें डिटेल

फैसले का स्वागत 

गुजरात चिकित्सा शिक्षक संघ (GMTA) के अध्यक्ष डॉ. रजनीश पटेल ने सरकार के फैसले का स्वागत किया है. उन्होंने कहा कि यह एक स्वागत योग्य कदम है कि सरकार ने जीएमईआरएस मेडिकल कॉलेज के शिक्षकों और सेवारत डॉक्टरों की लंबित मांगों को स्वीकार कर लिया है. आपको बता दें कि GMERS मेडिकल कॉलेज राज्य के स्वास्थ्य विभाग के गुजरात मेडिकल एजुकेशन एंड रिसर्च सोसाइटी के तहत स्थापित अर्ध-सरकारी संस्थान हैं.

बिजनेस से जुड़ी अन्य खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

LIVE TV

Source link

और लेख

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

नवीनतम लेख